HOW TO MAKE LACHHA PARATHA

 

HOW TO MAKE LACHHA PARATHA

नमस्कार दोस्तों ! आज हम लच्छा पराठा बनाना सीखेंगे | लच्छा पराठा खाने मे बहुत ही स्वादिस्ट एवं कुरकुरा होता है | इसे बनाने मे ज्यादा समय नहीं लगता है | इसकोबच्चे हो या बड़े बहुत ही शौक से खाते है |

तैयारी मे लगाने वाला समय – ४-५  मिनट

बनाने मे लगाने वाला समय – ४ -५ मिनट

आवश्यक सामग्री –

  • गेहू का आटा एक गिलास
  • तेल (रिफ़ाइन्ड) आवयश्कतानुसार
  • नमक
  • अजवायन पसंद्नुसार

विधि

 

HOW TO MAKE LACHHA PARATHA

  • सबसे पहले आटे को छलनी मे छानेंगे ,
  • अब उसे नमक ,अजवायन यदि पसंद हो तो ,और तेल डालकर गुथ लेंगे |
  • अब आटे को थोड़ी देर के लिए ढककर रख दे |
  • अब आले की छोटी – छोटी लोई बनाकर बेल ले |
  • अब बेली हुई पूरी चपाती पर तेल लगाये |
  • अब उसे जैसे हम लोग बचपन मे कागज का पंखा बनाते थे |उस प्रकार मोडे,
  • अब उस मुड़ी हुई चपाती को रोल कर ले |अब उसे हलके हाथ से बेले |
  • अब इसे तवे पर डालकर दोनों तरफ से तेल डालकर सेके |
  • अब पराठा कुरकुरा लच्छेदार पराठा तैयार है | इसे किसी भी सब्जी के साथ परोसे

सुझाव

  • आटा थोड़ा सख्त होना चाहिए |
  • पराठा थोड़ा मोटा होना चाहिए |

दोस्तों आप सभी लच्छा पराठा बनाये और खाए ,खिलाये एवम अपने अनुभव हमे bookbaak.com पर बताये | और इस रसिपी से जुड़े सवाल भी आप bookbaak.com पर पूछ सकते है | दोस्तों यदि आपको यह रेसिपी पसंद आये तो लिखे और शेयर जरुर करे |

 

शकरकंदी का स्पेशल हलवा बनाने की रेसिपी इन हिंदी

नमस्ते दोस्तों ! आज हम आपके लिए लेकर आये है | शकरकंदी का हलवा बनाने की रेसिपी | सर्दियों में शकरकंदी बाजारों में बहुत दिखाई देती है | शकरकंदी सबको पसंद होती है | इसको हम नॉर्मली उबाल कर भी खा सकते है | सर्दियों के मोसम में आपने बेसन , सूजी आदि का हलवा तो आम तौर पर खाया ही होगा | लेकिन क्या आप जानते है की शकरकंदी का भी हलवा बनाया जा सकता है | और शकरकंदी का हलवे का स्वाद इन सूजी और बेसन के हलवे के स्वाद से भी हटके ,बेहतर और स्वादिस्ट होता | सर्दियों में शकरकंदी के स्पेशल हलवे का स्वाद और भी बढ़ जाता है |आपको ये शकरकंदी का स्पेशल  हलवा बहुत पसंद आएगा | आओ बताये शकरकंदी का स्पेशल हलवा बनाने की रेसिपी –

शकरकंदी का हलवा बनाने की आवश्यक सामाग्री – 

  • शकरकंदी – २५० ग्राम
  • चीनी – 1/2 कप चीनी
  • बादाम – 2 बड़े चम्मच ( कटे हुए )
  • काजू – 2 बड़े चम्मच ( कटे हुए )
  • पिस्ता – ५ – 6 पीस ( छीलकर )
  • इलायची पाउडर – 1 चम्मच
  • घी – 2 बड़े चम्मच
  • दूध – 1 कप दूध
  • पानी – 2 ग्लास ( शकरकंदी उबालने के लिए )

 शकरकंदी का हलवा बनाने कि विधि – 

  • शकरकंदी को पहले धो ले | अब कुकर में पानी डालकर गैस  जलाकर एक सिटी लगा दे |
  • अब गैस बंद कर दे और कुकर को बंद रहने दे | सिटी न निकाले |
  • जब कुकर की गैस निकल जाये तब कुकर का ढक्कन खोले और शकरकंदी को एक प्लेट में निकाल ले  और ठंडा होने दे |
  • अब शकरकंदी का छिलका निकाल ले और शकरकंदी को मैस कर दे |
  • बादाम , काजू चाकू से काट कर एक बाउल में रख दे |
  • अब एक कडाही को गैस पर रखे और गैस जलाये |
  • कडाही हल्की गरम होने पर इसमें घी  डाले |
  • जब घी पिंघल जाये इसमें मैस की हुयी शकरकंदी डाले |
  • अब शकरकंदी को चम्मचे से चलाते रहे | ध्यान रहे हलवा हल्की आंच में ही बनाये |
  • जब शकरकंदी हल्के सुनहरे या भूरे रंग की हो जाये और भुन जाये |
  • तब इसमें दूध और चीनी डाले और चम्मचे से मिक्स करते हुए चलाये  |
  • अब सभी सामाग्री – बादाम , काजू , इलायची पाउडर आदि डालकर मिक्स करे |
  • अब हलवे को चलाते रहे जब तक की हलवा घी न छोड़ दे |
  • जब हलवा घी छोड़ने लगे तब समझो हमारा शकरकंदी का  हलवा रेडी हो गया है |

अब गैस बंद कर  दे और हलवे को एक बाउल या प्लेट में निकाले | और बादाम , काजू , पिस्ता आदि  को ऊपर से डेकोरेट करे | अब शकरकंदी के टेस्टी हलवे को सबको गरम गरम सर्व करे | शकरकंदी के हलवे का स्वाद बहुत बेहतरीन है | और ये आप सभी को भी बहुत पसंद आएगा | एक बार आप हमारी रेसिपी पढ़कर आप शकरकंदी का हलवा जरुर बनाकर देखे | आपको बहुत पसंद आएगा | यदि आपको हलवा पसंद आये तो हमें अपना अनुभव जरुर बताये |

आवश्यक निर्देश – आप ड्राई फ्रूट और चीनी की मात्रा को  अपने अनुसार घटा या बड़ा भी सकती है | हलवे को धीमी आंच में ही पकाए ,आंच तेज होने पर हलवा जल जायेगा |

एक अमीर लड़का और बूढ़े भिखारी की दिल को छु लेने वाली कहानी ( परोपकार )

 एक नगर  में राहुल नाम ( काल्पनिक नाम ) का एक अमीर लड़का रहता था | वो लड़का लगभग ११ साल का था |

उसके पिता बहुत बड़ी कंपनी के मालिक थे |  उसके पिता बहुत ही घमंडी थे |और किसी को कुछ दान नहीं देते थे | लेकिन वो दिल के बहुत अच्छे व्यक्ति थे | वो डरते थे की वो बहुत अमीर है |  कही कोई व्यक्ति राहुल को उनसे दूर न कर दे और कोई हानी न पहुंचा दे | इसलिए  वो अपने बेटे को किसी के पास भी नहीं जाने देते थे | और राहुल को वो बहुत बन्दिशो में रखते थे | वो राहुल को घुमाने भी अपने साथ लेकर जाते थे | वो अपने बेटे को बहुत प्यार करते थे क्यूंकि राहुल उनका एक लौता बेटा था |राहुल इस वजह से अपने पिता से डरा हुआ रहता था और अपने पिता से ज्यादा बात भी नहीं करता था |राहुल एक बहुत अच्छे और बड़े स्कूल में पढता था | राहुल बहुत इमानदार ,  समझदार और इमोशनल लड़का था |राहुल किसी को भी दुखी नहीं देख सकता था | जब भी वो किसी को दुखी देखता था तो वो उस व्यक्ति की तुरंत मदद करने लगता था | राहुल स्कूल भी अपने पिता के साथ एक बड़ी गाड़ी में बैठकर जाता था |  राहुल बिलकुल भी घमंडी नहीं था उसके बहुत से दोस्त थे और अध्यापक भी उसके व्यवहार से बहुत खुश रहते थे | वो पड़ने में भी काफी  होशियार था |

एक दिन की बात है राहुल की नजर स्कूल के सामने सड़क के किनारे बैठे  एक बुढा भिखारी पर पड़ी | वो भिखारी बहुत ही बुढा था और काफी दुखी दिख रहा था | मानो  ऐसा लग रहा था जेसे वो बुढा भिखारी बहुत बीमार हो | और  उसने काफी दिन से खाना न खाया हो | उसके कपडे जगह – जगह से फटे हुए थे | और उसके पैरो में चप्पल भी नहीं थी | राहुल अब जब भी स्कूल से जाता – आता तभी वो भिखारी को देखता और मन ही मन बहुत दुखी होता था | एक दिन राहुल स्कूल के गेट पर खड़ा अपने पापा का इंतजार क्र रहा था | उसके पापा की गाड़ी ख़राब हो गयी थी और वो लेट हो गये थे |तब उसने भिखारी को देखा और वो दोडकर उस बूढ़े व्यक्ति के पास चला गया और उसने बूढ़े व्यक्ति से उसके  बारे में पुछा | तब बूढ़े व्यक्ति ने बताया की उसके चार बेटे है और चारो ही कुछ काम नहीं करते है वो बहुत गरीब है | बस छोटा मोटा काम करके अपना और अपने बच्चों  का पेट भर लेते है | और मै ये देख नहीं पाता था और मै उन पर बोझ नहीं बनाना चाहता था इसलिए में बिना बताये अपना घर छोड़कर आ गया | और यही सड़क पर जगह – जगह घूमकर और मांगकर अपना पेट भर लेता हूँ | मै छोटा – मोटा काम भी करना चाहता हूँ | लेकिन  बुढा जानकर मुझे कोई काम नहीं देता है | जब मै मजबूर हो गया और बीमार भी हो गया तब मै इस  सड़क पर यही फूटपाथ पर रहने को मजबूर हो गया हु |

राहुल ने पूछा की बाबा आपने कुछ खाया है तो उस बाबा ने मुस्कुरा कर मना कर  दिया और कहा बेटा अब तुम अपने घर जाओ | तुम्हे देर हो जाएगी | राहुल ने जिद करके उन्हें खाना दिया और तभी उसके पापा आ गये  और राहुल चुपचाप अपने पापा के साथ घर आ गया |

राहुल मन से  बहुत उदास था | वो उस बूढ़े व्यक्ति के बारे में सोचता रहता था | और अब रोज वो अपना खाना उस व्यक्ति को दे देता था| एक दिन उसके मन में उस बूढ़े व्यक्ति के लिए कुछ करने का ख्याल आया | वह तुरंत अपने कमरे में गया और उसने अपनी गुल्लक निकाली और गुल्लक तोड़ कर देखा की उसके पास कितने पैसे इकट्टे हुए है | राहुल ने पैसे गिने और देखा की उसकी गुल्लक से ६०० रुपे निकले है | उसने उन पैसो को सम्भाल कर रख  दिया | और अब वो रोज अपने पापा से पैसे  मांग कर अपने पास एकत्र करता था | उसके पापा को उसकी इन रोज – रोज पैसे मांगने की हरकतों से राहुल पर कुछ शक हुआ | उसके पापा को कुछ समझ नहीं आ रहा था | की वो इतने पैसे क्यों एकत्र कर रहा है | एक दिन उसके पापा ने स्कूल के अध्यापक से जाकर पूछा की राहुल अजीब सा व्यवहार कर रहा है और वो रोज   बहुत पैसे खर्च रहा है | कही वो किसी गलत रास्ते तो नहीं जा रहा है | लेकिन स्कूल के अध्यापक से उन्हें कोई स्पष्ट बात पता नहीं चली | तभी वो गेट पर आये और गार्ड ने उन्हें बताया की आपका बेटा सामने बैठे भिखारी से बहुत मिलता है और काफी बात भी करता है यहाँ  तक की वो उस व्यक्ति को अपना खाना भी दे देता है | ये सब सुनकर उसके पापा को बड़ा आश्चर्य हुआ और दुःख भी हुआ | वे  ये सब सुनकर चुपचाप अपने घर लौट आये और अब वो राहुल पर निगाह भी रखने लगे | कुछ दिन बाद उन्होंने राहुल से कहा की में 2 दिन के लिए किसी काम से  बहार जा रहा हूँ |तुम अब घर के नोकर के साथ स्कूल चले जाना  | ये बोलकर वो चले जाते है | तभी  राहुल ने सोचा की अब उसके पास बहुत सारे पैसे एकत्र हो गये है | राहुल चुपके से शाम को पास के ही बाजार में गया और उसने बूढ़े बाबा के लिए एक कुर्ता – पजामा और जूते ख़रीदे और साथ में उनके लिए खाने के लिए सामान भी लिया | और ये सब ले जाकर  उसने बूढ़े बाबा को दे दिया | बूढ़े बाबा ने राहुल को बहुत मना किया पर राहुल ने कसम देकर उन्हें ये सब लेने के लिए मजबूर क्र दिया |

उसके पिता कहीं बहार नहीं गये थे बल्कि वो तो ये सब छुपकर देख रहे थे | ये सब देखकर उन्हें बहुत आश्चर्य हुआ और  उन्हें अपने बेटे पर बड़ा गर्व हुआ और ये सब देखकर उनके आंसू निकल आये और दोड़कर अपने बेटे को गले से लगाया |

ये जानकर बहुत अच्छा लगा की उनके बेटे ने एक गरीब व्यक्ति की मदद की है लेकिन ये जानकर उन्हें बहुत तकलीफ भी हुयी की डर की वजह से उनके बेटे राहुल ने इस बारे में उनसे कुछ नहीं बताया और कोई मदद भी नहीं मांगी |

उन्हें ये एहसास  हो गया था की बच्चों पर ज्यादा पाबन्दी नहीं लगानी चाहिए | अब वो अपने बेटे पर कोई पाबन्दी नहीं लगाते थे और अब वो गरीब व्यक्तियों को कुछ न कुछ दान करते रहते थे |और उनकी मदद भी करते थे | उनके बेटे ने उन्हें परोपकार का एक अनोखा पाठ पढ़ा दिया था जिसका उनके ह्रदय में बहुत  गहरा असर हुआ |

साउथ इंडियन स्वादिस्ट दही – भात रेसिपी इन हिंदी

नमस्ते दोस्तों  ! आज हम आपको दही – बात बनाना सिखायेंगे |दही भात सभी लोगो को पसंद होता है |हमारे  उत्तराखंड में अधिकतर लोगो की पसंद चावल है | पके चावल को उत्तराखंड में  भात कहकर पुकारते है | दही – भात बनाना बहुत ही आसान है | इसको बनाने में ज्यादा समय भी नहीं लगता है |वेसे तो ये मुख्यतः साउथ इन्डियन डिस है | साउथ में लोगो की ये बहुत पसंदीदा डीस है |आशा करते है की आप को भी ये साउथ इंडियन दही भात बहुत पसंद आएगा |आओ स्वादिस्ट दही बात बनाये –

दही – भात बनाने के लिए आवश्यक सामाग्री –

  • चावल – 1 कप
  • पानी 2.५ कप (चावल उबालने के लिए )
  • दही – 2 कप ( मथी हुयी )
  • राइ – 1/2 चम्मच
  • जीरा 1/2 चम्मच
  • करीपत्ता – ३ से ४
  • चीनी – 1 चम्मच  (पीसी हई )
  • सुखी लाल मिर्च – 2 (तली हुयी)
  • घी या तेल – 2  चम्मच
  • हिंग – एक चुटकी
  • हरी मिर्च – 2 (बारीक़ कटी हुयी )
  • काजू – 1 चम्मच ( छोटे टुकडो में )
  • हरा धनिया – 1 चम्मच ( बारीक़ कटा हुआ )
  • नमक – स्वादानुसार

 साउथ इंडियन स्वादिस्ट दही – भात बनाने की रेसिपी –

  • चावल को साफ़ करके अच्छे से धो ले |
  • अब एक कुकर में 2.5 कप पानी डालकर 1 सिटी लगाकर चावल पका ले |
  • अब गैस बंद करके कुकर बंद रहने दे |
  • जब सिटी निकल जाये कुकर खोल ले अब चावल पक  जायेंगे |
  • अब एक कडाही में घी गरम करेंगे |
  • काजू के टुकड़े डालकर हल्के तल ले और अलग बाउल में निकाल लेंगे |
  • अब इसी तेल में लाल साबुत मिर्च तल कर अलग बाउल में निकाल ले |
  • बचे तेल में जीरा , राइ डाल ले और जब जीरा  , राइ तडक जाये इसमें हिंग , करी पत्ता और हरी मिर्च डाल कर चम्मचे से चलाये और  तड़का तैयार कर ले |
  • अब एक बाउल में चावल , दही  , चीनी और नमक अच्छे से मिक्स कर ले |
  • अब चावल में तड़का डाल दे और अच्छे से मिक्स कर ले |
  • ऊपर से हरा  धनिया , काजू और साबूत लाल मिर्च तली हुयी रखकर सबको गरम – गरम सर्व करे |

ये हमारा साउथ इंडियन स्वादिस्ट दही – भात रेडी हो गया है | हम इसे गरम – गरम ही सबको सर्व करेंगे | ये बहुत ही स्वादिस्ट बना है | आप भी अपने घर पर हमारी रेसिपी पढ़कर दही भात बना सकती है | आपको ये बहुत पसंद आएगा |

BENEFITS OF ALOE VERA

BENEFITS OF ALOE VERA

नमस्कार दोस्तों आज हम एलोवेरा के जूस की उपयोगितायोके बारे मे जानेगे | एलोवेरा का पौधा गमले मे भी उग जाता है |बहुत से लोग इसे अपनी बालकनी की शोभा बढाने के लिए लगते है| एलोवेरा जिसे हिन्‍दी में घृतकुमारी कहा जाता है, एक प्रकार का छोटा सा कटीला पौधा होता है जिसकी पत्तियों में ढेर सारा लिक्विड भरा होता है। एलोवेरा का जूस, बहुत फायदेमंद होता है। इसमें कई प्रकार के प्रोटीन और विटामिन होते है जो शरीर को स्‍वस्‍थ बनाते है। इसके जूस का स्‍वाद थोड़ा कड़वा होता है लेकिन आजकल मार्केट में इसका जूस कई फ्लेवर मं मिलता है, जिससे आप आसानी से इसे स्‍वाद लेकर पी सकते है। आजकल बाबा रामदेवजी का जूस भी बाजार मे उपलब्ध है जो बहुत ही अच्छा है |
एलोवेरा के उपयोग एवं फायदे

  • आपने हमेशा पेट में गैस बनना और खाने के न पचने की समस्यां के बारे में तो सुना ही होगा। हमारे शरीर में पेट संबंधी कोई भी बीमारी हो तो आप 20 ग्राम एलोवेरा के रस में शहद और नींबू मिलाकर सेवन करें। यह पेट की बीमारी को दूर तो करता ही है। साथ ही साथ पाचन शक्ति को भी बढ़ाता है।
  • एलोवेरा पौधे के रस में रोगों से लड़ने की क्षमता होती है। क्योंकि इसमें रोग प्रतिरोधक तत्व मौजूद होतें हैं। जो हमारे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। जिससे शरीर में चुस्ती व स्फूर्ति बनी रहती है।
  • एलोवेरा हमारे शरीर में खून की कमी को दूर करके रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है.
  • एलोवेरा हमारे शरीर की अंदरूनी सफाई करता है |और शरीर को रोगाणु से मुक्त रखने में मदद करता है | यह हमारे शरीर की नस, नाड़ियों आदि की सफाई करता है |
  • त्वचा की देखभाल और बालों की मजबूती व बालों की समस्या से निजात पाने के लिए एलोवेरा संजीवनी का काम करती है|
  • एलोवेरा का जूस पीने से त्वचा की नमी बरकरार रहती है| और त्वचा चमकदार दिखती है | यह त्वचा के लचीलेपन को बढ़ाकर त्वचा को खूबसूरत बनाता है|
  • एलोवेरा हमारे शरीर में खून की कमी को दूर करके रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है|
  • एलोवेरा हमारे शरीर की अंदरूनी सफाई करता है |और शरीर को रोगाणु से मुक्त रखने में मदद करता है | यह हमारे शरीर की नस, नाड़ियों आदि की सफाई करता है |
  • त्वचा की देखभाल और बालों की मजबूती व बालों की समस्या से निजात पाने के लिए एलोवेरा संजीवनी का काम करती है |
  • एलोवेरा का जूस पीने से त्वचा की नमी बरकरार रहती है| और त्वचा चमकदार दिखती है | यह त्वचा के लचीलेपन को बढ़ाकर त्वचा को खूबसूरत बनाता है |

दोस्तों आप सभी ये उपाय अपनाए और अपने अनुभव हमें bookbaak.com पर बताये |

 

 

GHAR PAR UDHAD DAAL OR ARBI KE DANTHAL KI NAAL BADI BNANA ( उड़द दाल और अरबी के डंठल की नाल बड़ी बनाना )

नमस्ते दोस्तों ! आज हम आपको घर पर ही नाल बड़ी बनाना सिखायेंगे | बड़ी बनाना बहुत ही आसान है | बड़ी बहुत तरह की होती  है | जेसे – सोयाबीन की बड़ी , उडद दाल की बड़ी , मुंग दाल की बड़ी इत्यादि | आज हम आपको एक अलग तरह की बड़ी बनाना सिखायेंगे | ये बड़ी अरबी के डंठल और उडद की धुली दाल को मिक्स करके बनायीं जाती है | जिसे  नाल बड़ी कहते है | इसको हम बहुत ही सरल विधि दुवारा अपने घर पर ही रहकर बना सकते है | नाल बड़ी की सब्जी बहुत ही स्वादिस्ट और पौष्टिक  होती है | इसको आलू के साथ मिक्स करके बनाया जाये तो इसका स्वाद और भी बढ़ जाता है |आओ अब  नाल बड़ी बनाना सिखाए –

SAMAGRI ( नाल बड़ी बनाने के लिए आवशयक सामाग्री ) –

  • अरबी के पत्तों की डंठल – 2 डंठल |
  • उड़द की धूलि दाल – २५० ग्राम |
  • पानी –  दाल भिगोने के लिए  (आवशयकता अनुसार ) |
  • साफ़ प्लास्टिक सिट या कपड़ा – 1 बड़ा नाल बड़ी रखने के लिए  |
  • नमक – आवशयकता अनुसार |
  • लाल मिर्च पाउडर – 1/2 चम्मच |
  • हल्दी पाउडर  – 1/2 चम्मच |

METHOD ( घर पर  नाल बड़ी बनाने की विधि ) – 

  • सबसे पहले हम उड़द  की धुली दाल को अच्छे से देख कर एक गहरे बर्तन में साफ पानी से धो लेंगे |
  • फिर उड़द की दाल को पानी में भिगो कर 2 से ३ घंटे के लिए ढककर रख देगें |
  • ३ घंटे बाद दाल से पानी को निकाल कर फेंक देंगे |
  • अब दाल में नमक ,  लाल मिर्च पाउडर और हल्दी पाउडर  डालकर  मिक्सी  या सिलबट्टे में पिस ले और एक साफ़ बर्तन में निकाल कर रख लेंगे  |
  • अब अरबी की डंठल को साफ़ पानी से धो ले और छीलकर छोटे – छोटे टुकड़ों में काट ले और फिर से धो ले |
  • अब अरबी के डंठल  के टुकड़ों को पीसी उड़द की डाल में मिक्स कर देंगे |
  • अब दाल को अरबी के डंठल में अच्छे से लपेट कर एक साफ़ कपड़े या प्लास्टिक सिट पर थोड़ी – थोड़ी  दुरी पर सुखाने के लिए रखेंगे  | ध्यान रहे की नाल बड़ी  को अलग – अलग दुरी बनाकर रखेंगे | सबको एक साथ मिलाकर नहीं रखे |
  • अब नाल बड़ी को अच्छे से सुखा ले | जब बड़ी एक तरफ से सुख जाये तो नाल बड़ी को दूसरी साइड पलट लेंगे और सूखने देंगे |

नाल बड़ी अच्छे से सूखने के लिए कम से कम ३ दिन लगते है | जब नाल बड़ी ठीक से सुख जाये तब हम इसको सब्जी बनाने में उपयोग कर सकते है | नाल बड़ी को अधिकतर लोग आलू के साथ मिलाकर बनाते है | आलू और नाल बड़ी की मिक्स सब्जी का टेस्ट और भी स्वादिस्ट हो जाता है | नाल बड़ी और आलू की सब्जी सुखी और रसेदार दोनों तरीकों से बनाई जाती है |

अगर आपको हमारा अरबी की डंठल और उडद दाल की नाल बड़ी बनाने का तरीका पसंद आया है तो आप भी हमारी विधि दुवारा अपने घर पर नाल बड़ी बना सकते है |

PANEER SIZLAR SALAD ( पनीर सिजलर सलाद )

नमस्ते दोस्तों ! आज हम आपको पनीर सिजलर सलाद बनाने  की रेसिपी के बारे में बतायेंगे | आजकल लोग विशेष तौर पर महिलाएँ अपना वजन घटाने के लिए अलग – अलग तरह के फोर्मुले प्रयोग करती है | वजन घटाने के लिए पनीर सिजलर सलाद बहुत  उपयोगी और फायदेमंद भी है |विशेष तौर लडकियां अपना फिगर बनाये रखने के लिए पनीर सिजलर सलाद का खाने में उपयोग करती है  | इसको हम अपने घर पर भी बहुत आसानी से बना  सकते है | यह बहुत जल्दी और आसानी से बनाया जाता है | आओ देखे पनीर सिजलर सलाद  बनाने की रेसिपी –

बनाने का समय – 15 मिनट

SAMAGRI ( पनीर सिजलर सलाद बनाने की आवश्यक सामाग्री ) – 

  1. पनीर – 100 ग्राम बराबर टुकडो में कटा हुआ
  2. प्याज –  1 बारीक़ गोल  कटी हुई
  3. गाजर – 1 बारीक़ गोल   कटी हुयी
  4. टमाटर – 1 गोल टुकडो में  कटा  हुआ
  5. शिमला मिर्च – 1  लम्बी कटी हुई
  6. खीरा – 1 छोटा गोल   टुकडो में कटा  हुआ
  7. हरी मिर्च – 2 बड़ी कटी हुयी
  8. नमक – स्वादानुसार
  9. काली मिर्च – एक चुटकी
  10. अजवायन – 1/2 चम्मच
  11. लहसुन पेस्ट -1/2 चम्मच
  12. निम्बू रस – 2 बड़े चम्मच
  13. सॉस – अव्शयक्तानुसार
  14. पनीर – 50 गरम चुरा हुआ
  15. हरा  धनिया – 1 चम्मच बारीक़ कटा हुआ

METHOD ( पनीर सिजलर सलाद बनाने की रेसिपी )  – 

अब सबसे पहले पनीर के टुकड़ों को एक पैन में सुखा ही हल्का भुन ले | जब ये हल्का भूरा हो जाए |तब भुने पनीर को अलग बाउल में निकाल ले |

अब सभी सब्जियां जेसे – खीरा , हरी मिर्च , शिमला मिर्च , गाजर , टमाटर , प्याज आदि को एक बड़े बाउल में मिक्स कर ले | अब इसमें पनीर के भुने टुकड़े मिक्स करे |

अब इसमें ऊपर से काली मिर्च , नमक , लहसुन पेस्ट , अजवायन , निम्बू का रस , डालकर  अच्छे से मिक्स कर ले | पनीर सिजलर सलाद में उपर से सॉस डाल ले |अब इसमें डेकोरेशन के लिए हरा  धनिया और पनीर का चुरा डालेंगे |

अब हमारा पनीर सिजलर सलाद तैयार है | इसे हम सबको ठंडा करके सर्व कर सकते है |

JHATPAT MASALA SPRAUTS TAIYAR IN 10 MINUTES ( १० मिनट में झटपट मसाला स्प्राउट्स बनाने की रेसिपी )

नमस्ते दोस्तों !आज हम आपको मसाला स्प्राउट्स बनाने की बहुत ही आसान रेसिपी बतायेंगे | जो सिर्फ १० मिनट में बनकर तैयार हो जाएगी |अंकुरित दालो में केलोरी  नहीं होती है और दालो में मुख्य रूप से फाइबर , प्रोटीन , विटामिन और आयरन परचुर मात्रा में उपलब्ध होता है | इसलिए मसाला स्प्राउट्स हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है |   दोस्तों कभी – कभी बिलकुल काम करने का मन नहीं करता | ऐसे में कुछ सूझता नहीं की क्या बनाया जाये | जो आसानी से जल्दी भी बन जाये और पोष्टिक भी हो | आजकल की महिलाएं तो इतनी व्यस्त हो गयी है की उन्हें कुछ जल्दी बनाने वाली डिश ही चाहिए | ऐसे में मौके पर बनाने के लिए हमारे पास मसाला स्प्राउट्स बहुत ही सोचा समझा विकल्प है |जो बहुत ही कम समय में बनकर तैयार हो जाता है |

SAMAGRI ( मसाला स्प्राउट्स बनाने के लिए आवश्यक सामाग्री ) – 

  1. मुंग साबुत स्प्राउट्स -1 कप
  2. सोयाबीन साबुत स्प्राउट्स – 1 कप
  3. प्याज – 1 बारीक़ कटा हुआ
  4. टमाटर – 1 बारीक़ कटा हुआ
  5. निम्बू – 2 निम्बू का रस
  6. हरा  धनिया – 1 टीस्पून बारीक़ कटा हुआ
  7. नमक – स्वादानुसार
  8. हल्दी  पाउडर – 1/४ भाग
  9. काला नमक – 1 चुटकी
  10. जीरा पाउडर – 1 चम्मच
  11. हरी मिर्च – 2 बारीक़ कटी हुई
  12. चाट मसाला – 1 चम्मच
  13. जीरा – 1 चम्मच
  14. हिंग – एक चुटकी

METHOD ( मसाला स्प्राउट्स बनाने की विधि ) –

मुंग और सोयाबीन की दाल को पहले हम पानी में अच्छे से धोकर रात को पानी में भिगोकर रख देते है | अब सुबह दाल को पानी से निकाल कर एक छलनी में ढककर रख देंगे | दाल में अंकुर कम से कम ३ दिन में आ जाते है | अब दाल को 2 से ३ दिन के लिए ढककर रख दे | अब 2 – ३ दिन में दाल में अंकुर आ जायेगे  |

अब एक पैन में तेल गरम करेंगे | जब तेल गरम हो जाये उसमे जीरा और हिंग का तड़का लगाएंगे | अब तडके में प्याज डालकर भुन लेंगे | जब प्याज हलके सुनहरे हो जाये |  इसमें  स्प्राउट्स मूंग और सोयाबीन ,  टमाटर ,  नमक ,  हल्दी , हरी मिर्च , काला नमक , जीरा पाउडर , चाट मसाला , निम्बू का रस आदि डालकर मिक्स कर लेंगे | और ५ से 6 मिनट के लिए हलकी आंच पर पानी के छींटे डालकर  पकाएंगे | पकने के बाद गैस को बंद कर  दे |

अब  मसाला स्प्राउट्स तैयार है | अब एक बाउल में मसाला स्प्राउट्स निकाल कर हरा धनिये को ऊपर से डालकर डेकोरेट करेंगे और सबको मसाला स्प्राउट्स सर्व करेंगे |

अगर आप भी हमारी रेसिपी की तरह मसाला स्प्राउट्स बनाना चाहते है तो इस रेसिपी को कॉपी कर ले |  अगर रेसिपी पसंद आये तो रेसिपी को अधिक से अधिक शेयर करे |

 

 

 

CHOTE SE ALOO K BADHE – BADHE FAYDEIN

Hello friends ! BOOKBAAK.COM ek aisa BLOG hai jaha par ham apne man mai uth rahe  vicharo ko likhte hai. hum aaj bookbaak . com par aapko ek aise hi chote se aloo k bahut hi bade – bade guno k bare mai batyenge .Hamare desh mai Aloo ki kheti sabse jyada ki jati hai. Duniya mai aloo ka  4th  number hai .  makka , gehu or chawal k bad aloo ka utpadan kiya jata hai. Aloo ka ek chota sa podha hota hai lekin aloo isme neeche jamin k andar ugta hai . log kehte hai ki aloo jadh hai mera manana hai ki aloo tna hai . aloo bahut hi faydemand sabji hai. Jo rogo ko dur karta hai. Aloo mai carbohydread . protin ,  vitamin  c , vitamin B6 , potecium , glucose , or amino asid perchur matra mai hota hai . jiske karan body ko jaldi hi shakti milti hai. Aloo colstrol ko jamne nahi deta hai . aloo mai fasforas , megnishiyam , iron or jink bhi hota hai. Aloo mai antioxydent bhi paye jate hai. Jo free redicals se hone wale nukshan se bachate hai. Aloo hamari haddiyo ko majboot banata hai . aloo k bahut se fayde hai _

 

  1. Balo ko safed hone se bachata hai – ye ek bahut purana nuskha hai .aloo k chilko mai mojud  starch  balo ko safed hone  or girne rakcha karta hai. Ji yaha Hum aloo k chilko ki baat ker rhe hai . purane jamane mai oshdhi  chilke utar kar banayi jati thi. Jo balo ko safed hone k sath hi rom ko bhi  swasth rakhta hai. Aloo mai potecium  , jink , iron , or calcium. Perchur matra mai hota hai jo  balo ko girne se rokta hai or  lambe , ghane or majboot banata hai. Aloo ko hum ek pack ki tarah use kar  skte hai. Aloo ka chilka utar Karin aloo k chilko ko  1 cup pani mai dalkar  ges mai ubal lete hai . jab yaha thik tarah se ubal jaye to ishe 8 se 10 minute k liye low anch per pakne de . iske bad ish misran ko thanda hone k liye rakh de . jab ye misran thanda ho jaye to isko ek  dibbe ya jar mai bhar le . yadi aap isme kuch mahak dalna chahte hai to isme levender k tail ki kuch bunde daal sakte hai. Ab isko aap apne balo mai laga skte hai . dhiyan rahe is misran ko bal dhokar halka gile balo mai lagaye or thodi der halke hatho se  masag krte rahe  fir 30 minute k liye lagakar chodh de . iske bad taje pani se dho le bahut hi jaldi asar hoga . or balo ki sabhi tarah ki smasya dur ho jayegi .
  2. Elergy or kidhe k katne per – agar koi kidha aapko kat le to aloo ko ush jagah par lagane se jaldi aaram hota hai. Or iske alava elery ki samasya se bhi nijat deta hai.
  3. Aankho k liye faydemand aloo- ankho k aas-pass bahut se logo k dark circles ho jate hai .in dark circles ko kam krne k liye aloo bahut upyogi hai. Kachche aloo ko katker iske ras ko ankho k aas- pass lagane se dark circles kam hone lagte hai lagatar is vidhi ko karne se jaldi hi dark circles smapt ho jate hai. Or aloo k ras ko lagane se ankho mai aayi sujan bhi kam ho jati hai.
  4. Aankho k liye faydemand aloo- ankho k aas-pass bahut se logo k dark circles ho jate hai .in dark circles ko kam krne k liye aloo bahut upyogi hai. Kachche aloo ko katker iske ras ko ankho k aas- pass lagane se dark circles kam hone lagte hai lagatar is vidhi ko karne se jaldi hi dark circles smapt ho jate hai. Or aloo k ras ko lagane se ankho mai aayi sujan bhi kam ho jati hai.
  5. Sun burn – tej doop mai safar karna bahut miskil hota hai . suraj ki tej kirne hamari body ko bahut perbhavit karti hai. Jiski wajah se body ka colour kala ya savla ho jata hai arthat skin tej dhoop se burn hone lagati hai . iske liye bhi hamare pass aloo hi ek aisa anmol nishulk ilaaj hai jiske iste mal se body ka colour wapas aa jata hai. Iske liye aloo ko katkar tukdo ko freez mai rakh de. Thanda hone par aloo k tukde ko un jagaho per lagaye jaha sunburn hua hai. Iske upyog se skin fir pehle jesi ho jayegi or colour bhi saf hoga iske alava skin soft or smooth ho jayegi.
  6. Fat ko kam krta hai – logo ka manana hai ki aloo fat ( motapa ) badhata hai . ishi wajah se log aloo khane se Darte hai . lekin aisa bilkul nahi hai. Aloo se koi motapa nahi badta hai . aloo ko ubalkar sukhi sabji ki tarah use krne se motapa badhta nahi balki kam ho jata hai or wait bhi kam hota hai . aap chahe to aloo ko chilko sahit bhi bana skte hai . is tarah se sabji banane se chilko mai paye jane wale  tatv k bhi fayde body ko mil jayenge . aloo colestrol ko kam kerta hai . or aloo blood pressure ko badhne se rokta hai .
  7. Dry skin – yadi  aapki skin dry hai to aloo iske liye bahut  achcha obtion hai . aloo ko dahi mai mix karke mask banaye or 20 se 25 minute k liye lagaye rakkhe.  iske istemal se face ki dryness dur ho jayegi .
  8. Gathiya mai labhkari – 4 aloo ko aag mai shek kar iska chilka utar kar namak ,  mirch dal khane se  gathiya ki taklif dur ho jati hai.ye upay daily krenge to jaldi hi asar dikhne lagega .
  9. Bachcho ki health – bachcha yadi kafi kamjor hai to chote doodh pite bachche ya bade bachche ko aloo ubalkar khilaye or aloo ka ras nikalker daily pilaye to bachcha heathy or strong ho jata hai . kafi mota taja ho jayega . aloo bachcho ko wese bhi bahut pasand hote . aloo bachcho ko kafi labh dete hai .
  10. Wrinkles ( jhurriya ) ka safaya krta hai _ agar aapki aankho k aas pass jhurriya ya patli lines hai to iske liye aap aloo ka ras lga skte hai . aloo mai anti aging  tatv face par padhne wali jhurriyo ko smapat kar deta hai.
  11. Dark spots mai labhdayi – ham apne face mai glow lane k liye kai beauty specialist k pass jate hai . jo ye wade karte hai ki aap iske use se ek dum nikhar jayegi  or face par glow bhi aa jayega . but aisa bilkul nahi hota hai . iske alava face par or bhi side effect dikhne lagti hai . jiske karan face par dark spots ho jate hai . jiski wajah se face or bhi badsurat dikhne lagta hai. Inhi dark spots ko hatane k liye aloo best solution hai . aloo ko katkar ek slice ko apne face par ragde or  5- 8 minute tak massage krte rahe or fir bad mai taje pani se dho le . iske use se dark spots jaldi hi khatam ho jate hai.Aloo k bahut se gun hai jo hamare liye bahut hi labhkari hote hai. Isliye aloo khane se katraye nahi balki iska use krey .