धनतेरस की कथा ,पूजा विधि ,शुभ महूरत

धनतेरस की कथा ,पूजा विधि ,शुभ महूरत -Dhanteras Katha, Puja Vidhi,Shubh mahurat in Hindi

Dhanteras Katha, Puja Vidhi,Shubh mahurat in Hindi:

 

धनतेरस की कथा ,पूजा विधि ,शुभ महूरत

नमस्कार दोस्तों | आप सभी को हमारी और से धनतेरस एवं दीपावली की शुभ कामनाये | धनतेरस हिन्दुओ का प्रमुख त्योहार है। धनतेरस कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी यानि की कृष्णा पक्ष के तेरहवां दिन को मनाया जाता है। धनतेरस दिवाली के दो दिन पहले ही मनाया जाता है।कहावत टी यह है की धनतेरस से ही दिवाली  की शुरुआत होती है। इससे पहले कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष के चतुर्थी के दिन करवाचौथ मनाया जाता है।और उसके चौथे दिन अहोई मनाई जाती है करवा चौथ और अहोई भी शुभ महूरत एवं विधि से किया जाता है |

धन तेरस के दिन से ही दिवाली के लिए स्पेशल पकवान बनाने लगते है

धनतेरस की कथा

हिन्दू ग्रंथो के अनुसार कहा जाता है कि इस दिन यमराज से राजा हिम के बेटे की रक्षा उसकी पत्नी ने की थी इसी कारण दीपावली से दो दिन पहले मनाए जाने वाले का महा पर्व धनतेरस पर शाम को यम देव का निमित्त दीपदान किया जाता है। इस दिन को यमदीप दान भी कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से यमराज के क्रोध से सुरक्षा मिलती है और पूरा परिवार स्वस्थ, सुखी एवं घर में खुशहाली आती है | इस दिन घरों को साफ-सफाई, लीपाई-पुताई करके स्वच्छ और पवित्र बनाया जाता है और फिर शाम के समय रंगोली बना दीपक जलाकर धन और वैभव की देवी मां लक्ष्मीकी पूजा की जाती है |

कब करें खरीदारी और कब है शुभ मुहूर्त

इस साल का धनतेरस कब है और कब आप खरीद सकते हैं सोना चांदी तो ये कलेंडर नोट कर लीजिए दरअसल इस साल धनतेरस 5 नवंबर को मनाई जाएगी कहा जाता है कि इसी दिन अर्थात धनतेरस के दिन भगवान धनवन्‍तरी का जन्‍म हुआ था जो कि समुन्‍द्र मंथन के दौरान अपने साथ अमृत का कलश और आयुर्वेद लेकर प्रकट हुए थे और इसी कारण से भगवान धनवन्‍तरी को औषधी का जनक भी कहा जाता है धनतेरस के

खरीदारी करने का शुभ मुहूर्त धनतेरस वाले दिन शाम 7:19 बजे से 8:17 बजे तक का है| जानिए कब करें किस चीज की खरीदारी|

  • काल- सुबह 7:30 बजे तक खाने का सामान एवं दवा

  • शुभ- सुबह 9:10 बजे तक वाहन, मशीन, कपड़ा, शेयर और घरेलू सामान

  • लाभ- 15:50 बजे तक लाभ कमाने वाली मशीन, औजार, कंप्यूटर और शेयर

  • अमृत- 17:30 बजे तक जेवर, बर्तन, खिलौना, कपड़ा और स्टेशनरी

  • काल- 19:11 बजे तक घरेलू सामान एवं खाने का सामान

 

कैसे करें धनतेरस की पूजा

  • सबसे पहले मिट्टी का हाथी और धन्वंतरि भगवानजी की फोटो स्थापित करें जो की बाजार में आसानी से उपलब्ध है |
  • चांदी या तांबे की आचमनी से जल का आचमन करें.
  • भगवान गणेश का ध्यान और पूजन करें
  • हाथ में अक्षत-पुष्प लेकर भगवान धन्वंतरि का ध्यान करें.

पूजा के समय इस मंत्र का करें जप

देवान कृशान सुरसंघनि पीडितांगान, दृष्ट्वा दयालुर मृतं विपरीतु कामः
पायोधि मंथन विधौ प्रकटौ भवधो, धन्वन्तरि: स भगवानवतात सदा नः
ॐ धन्वन्तरि देवाय नमः ध्यानार्थे अक्षत पुष्पाणि समर्पयामि…

इस दिन बहुत सी चीजो को खरीदना शुभ माना जाता है:

  • सात मुखी रुद्राक्ष
  • धनिये के बीज
  • कौड़ी और कमल गट्टा
  • झाड़ू
  • गूंजा
  • पीतल के बर्तन का बहुत महत्व है।
  • चांदी के लक्ष्मी-गणेश जी की मूर्ति
  • कुबेरजी की प्रतिमा
  • लक्ष्मी या श्री यंत्र
  • गोमती चक्र

Post Author: Seema Gupta