छत पूजा विधि ,महूरत एवं महत्त्व

छत पूजा विधि ,महूरत एवं महत्त्व
छत पूजा विधि ,महूरत एवं महत्त्व

नमस्कार दोस्तों ! सबसे पहले आप सभी को इस छत पर्व की हार्दिक बधाई | छठ आने वाली है छठका यह त्‍योहार एक साल में दो बार मनाया जाता है- पहला चैत्र माह में और दूसरा कार्तिक माह में| हिन्दू पंचांग के अनुसार चैत्र शुक्लपक्ष की षष्ठी पर मनाए जाने वाले इस छठ त्‍योहार को चैती छठ कहा जाता है और कार्तिक शुक्लपक्ष की षष्ठी पर मनाए जाने वाले इस त्‍योहार को कार्तिकी छठ कहा जाता है|यह पर्व बिहार और उत्तर प्रदेश में बड़े ही धूमधाम से बनाया जाता है |इस त्‍योहार को यहां पर  पारिवारिक सुख-समृद्धि और मनोवांछित फल-प्राप्ति के लिए मनाया जाता है|

छठ पूजा भारत में भगवान सूर्य की उपासना का सबसे प्रसिद्ध हिंदू त्‍योहार है| इस त्‍योहार को षष्ठी तिथि पर मनाया जाता है, जिस कारण इसे सूर्य षष्ठी व्रत या छठ कहा गया है| यह दिवाली के बाद आता है | वैसे भी नवरात्रों से लेकर छत तक बहुत से हिन्दू त्यौहार आते है जैसे –दशहरा ,करवा चौथ ,अहोई ,धनतेरस आदि पर्व आते है |

छठ पूजा 2017: महोत्सव का इतिहास और महत्व

 

छठ पूजा के बारे में ऐसा माना जाता है कि जब पांडव जुए में अपना सारा राज-पाट हार गए थे तब  द्रौपदी ने पांड्वो के लिए यह छठ का व्रत किया था | इस व्रत के प्रभाव से दौपद्री की सभी मनोकामनाएं पूरी हुई थीं| तभी से इस व्रत को करने की प्रथा चली आ रही है|परंपरा के अनुसार छठ पर्व के व्रत को स्त्री और पुरुषदोनों ही समान रूप सेया सामान विधि पूर्वक रख सकते हैं| छठ पूजा की परंपरा और उसके महत्व को बताने वाली पौराणिक और लोककथाओं के अनुसार यह पर्व सर्वाधिक शुद्धता और पवित्रता का पर्व है| और इसे मनाया भी बड़ी ही शुद्धता पूर्वक है |

इसके बारे में एक और कहावत है की लंका पर विजय प्राप्‍त करने के बाद रामराज्य की स्थापना के दिन कार्तिक शुक्ल षष्ठी यानी छठ के दिन भगवान राम और माता सीता ने व्रत किया था और सूर्यदेव की पूजा की थी और सप्तमी को सूर्योदय के समय फिर से अनुष्ठान कर सूर्यदेव से आशीर्वाद प्राप्त किया था|

छठ पूजा 2017: मुहूर्त समय

छठ पूजा के दिन सूर्यादय – 06:41 am
छठ पूजा के दिन सूर्यास्त- 18:05 pm

छठ पूजा की तिथि

षष्ठी तिथि प्रारंभ- 25 अक्टूबर को सुबह 09:37, 2017
षष्ठी तिथि समाप्ति- 26 अक्टूबर 2017 को शाम 12:15 बजे पर

द्दोस्तो यदि आप और भी इसी प्रकार के पोस्ट पड़ना चाहते है तो bookbaak.com पर क्लिक करे

स्वादिस्ट  वयंजन के लिए यहाँ क्लिक करे 

                                                                                                      हैप्‍पी छठ पूजा!

Post Author: Ankit Aggarwal