AMLE Ka ACHAR - आंवले का अचार

AMLE Ka ACHAR – आंवले का अचार

AMLE Ka ACHAR - आंवले का अचार

READ IN ENGLISH PLEASE CLICK HERE

नमस्कार दोस्तों आज हम bookbaak.com पर आंवले का अचार बनाना सीखेंगे | यह हमारी आखो के लिए बहुत लाभदायक है | आंवला न सिर्फ विटामिन सी का स्रोत है.  यह पाचन क्रिया को सही करता है बल्कि आयुर्वेद के अनुसार तो यह शरीर के साथ साथ दिमाग के लिये भी गुणकारी है | आप सामान्य तरीके से आंवला फ्राइ करके भी भोजन के साथ अचार चटनी की तरह उपयोग में ला सकते हैं | आप इसका मुरब्बा भी बना सकते है | यह हार्ट के मरीजो एवं गर्भवती महिलायों के लिए बहुत लाभदायक है |

आवश्यक सामग्री – Ingredients for Pickle

  • आंवले – 500 ग्राम
  • सरसों का तेल – 200 ग्राम
  • हीग – 1/4 छोटी चम्मच (पिसी हुई)
  • मैंथी के दाने – 2 छोटी चम्मच
  • अजवाइन – 1 छोटी चम्मच
  • नमक – 50 ग्राम (4 छोटे चम्मच)
  • हल्दी पाउडर – 2 छोटे चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर – 1 छोटा चम्मच से कम
  • पीली सरसों – 4 छोटे चम्मच (मोटी मोटी पिसी हुई)
  • सोंफ पाउडर – 2 छोटे चम्मच

आंवले का अचार बनाने की विधि { amla ka achar recipe in hindi}

AMLE Ka ACHAR - आंवले का अचार

  • आंवले का अचार (to make amla ka achar) बनाने के लिए, सबसे पहले आंवले को पानी से अच्छी तरह से धो लें।
  • धुले हुए आंवले को प्रेशर कुकर में डालें, साथ में करीब एक-डेढ़ कप पानी डालें और कूकर का ढक्कन बंद कर दें।
  • तेज़ आंच पर कूकर में एक सीटी लें और गैस को बंद कर दें। कूकर को अपने आप ठंडा होने दें।
  • कूकर में से उबले हुए आंवले निकाल लें और उन्हें ठण्डा होने दें। आंवले के ठंडा होने पर उनकी फांकें (slices) निकालकर अलग रख लें और गुठलियों को हटा दें।
  • एक सूती कपड़े (cotton cloth) पर आंवले की फांकों को फैला दें और उन्हें थोड़ा सूखने दें। इसमें लगभग 4-5 घंटे लगेंगें।
  • अब एक बर्तन में आंवले की फांकें लें, उसमें नमक, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, पिसी हुई सौंफ, राई और मेथीदाना डालकर अच्छे से मिलाएं। फिर सरसों का तेल डालकर अच्छे से मिलाएं। आंवले की फाँकें, सरसों के तेल में अच्छे से लिपट जानी चाहिए इसीलिए यदि तेल कम लगे तो थोड़ा और तेल इसमें मिला सकते हैं।
  • एक कांच के जार (glass jar) में अचार को भर दें और ढक्कन बंद कर दें। इस जार को 3-4 दिन तक धूप में रखेंताकि अचार अच्छे से पक जाए और खाने के लिए तैयार हो जाए। हाँ, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि अचार को धूप में रखने से पहले चम्मच की मदद से अच्छे से हिला दें ताकि आंवले में मसाले और तेल अच्छे से मिल जाएँ।
  • इसके बाद आंवले का अचार (amla ka achar) खाने के लिए तैयार हो जायेगा। इसे किसी भी तरह के रोटी, पराठे या दाल-चावल के साथ परोस सकते हैं।

सुझाव :-

  • आचार बनाते समय इस्तेमाल होने वाले सारे बर्तन साफ़ और सूखे होने चाहिएं | ज़रा भी  नमी और गंदगी भी आचार को खराब कर सकती ह |
  • जिस कंटेनर में आप आचार भरने वाले हैं उसे उबलते पानी से अच्छे से धो लें और फिर धूप में या अवन में सुखा लें|
  • आचार को निकालने के लिए हमेशा साफ़ और सूखे चम्मच का इस्तेमाल करें | हफ़्ते में एक बार इसे चम्मच से चलाकर ऊपर –नीचे जरुर करे |
  • 2-3 महीनों में आचार को एक दिन की धूप लगवा दी जाए तो इसका स्वाद बना रहता है और आचार ज़्यादा समय तक ठीक भी रहता है|

आमले  से बनी recipe पड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे (आमले)

Post Author: Seema Gupta