सावन मे क्या करे क्या नहीं करे

सावन मे क्या करे क्या नहीं करे

सावन मे क्या करे क्या नहीं करे

Read in english click here 

नमस्कार दोस्तों आज हम सावन के महीने की महत्ता के बारे मे बात करेंगे |सावन का महिना बहुत ही पवित्र होता है कहते है की इन दिनों यदि शिवजी की पूजा पुरे विधि विधान से की जाए तो भगवान् हमें उसका बहुत ही उत्तम फल देते है |हिन्दू धर्म, अनेक मान्यताओं और कई प्रकार के विचारों के  मिलने से बना है। हिन्दू धर्म को मानने वाले  इस बात से अच्छी प्रकार से सहमत है कि हिन्दुओ के जीवन मी क्या चीज जरुरी है और क्या नहीं। यही कारण है की हिन्दू परिवार आज भी धर्म और आस्था की डोर से बंधे है |

सावन मे क्या करे क्या नहीं करे

  • हमारे हिन्दू परिवारों में सावन के दिनों को बहुत ही पवित्र और शुभ मन जाता है |इन दिनों मे लोग अपने घरो में मॉस ,मदिरा यहाँ तक की प्याज और लहसुन भी नहीं खाया जाता है |इस महीने की महता का पता इस बात से भी चलता है की ज्यदते लोग इन दिनों व्रत भी रखते है |
  • दोस्तों हम पुरे सप्ताह के दिनो को किसी न किसीदेवी-देवता की पूजा के लिए शुभ मानते है। साल के हर महीने मे किसी न किसी देवी –देवता की पूजा की जाती है |इसी प्रकार सावन के माहिने की भी अपनी ही एक महिमा है |सावन के महीने मे सोमवार को सिवजी की पूजा का बहुत ही अधिक महत्त्व है |
  • सोमवार तो वैसे भी शिवजी का दिन है |और सावन के सोमवार की पूजा तो अपने आप महत्वपूर्ण हो जाती है |ऐसा कहा जाता है की सावन के महीने में सोमवार के दिन शिव जी की पूजा करने से शिव जी बहुत ही प्रसन्न हो जाते है। क्योंकि सोमवार के स्वामी शिव जी को ही माना जाता हैं। सावन का महीना शिव जीको बहुत प्रिय होता है |क्योकि इस महीने मे बारिश बहुत होती है जो शारीर को ठंडक पहुचती है
  • शिवलिंग पर हल्दी नहीं चढ़ानी चाहिए, क्योंकि हल्दी का सम्बन्ध स्त्री से होता है |हल्दी को शिवलिंग की बजाय जलधारी पर चड़ाए |
  • . सावन में कच्चे दूध को नहीं पीना चाहिए क्योकि इन दिनों कच्चा दूध पिने से पिट बनता है यदि आपको दूध पीना है तो खूब उबालकर पिए |.
  • सावन के दिनों मे बैंगन भी नहीं खाना चाहिए|क्योकि बैगन को शास्त्रों मे अशुद्ध माना जाता है |और एक कारण यह भी है की इन दिनों .बैंगन में कीड़े भी लग जाते है |इस कारण बैंगन खाने से सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ता है |
  • सावन केमहीने में नॉन वेग का प्रयोग नहीं करना चाहिए |क्योकि इस महीने में पशु , पक्षीसभ के गर्भ धारण की सम्भावना बड जाती है |ऐसे मे मादा पशु , पक्षी की हत्या हमारे धर्म में पाप माना जाता है |और इसका एक वैज्ञानिक कारण यह भी है की इस मौसम में कीड़े- माकोड़े बहुत होते है जो की जानवरोंके शारीर मे पहुच जाते है |जिससे बिमारी की संबावना बड जाती है |
  • सावन माह में बुजुर्ग व्यक्ति, गुरु, भाई-बहन, जीवन साथी, माता-पिता, मित्र और ज्ञानी लोगों का अपमान न करें। शिवजी के माह मेंइन लोगो का सम्मान करना अति आवश्यक है नहीं तो शिवजी उन पर अपनी क्रपा हटा लेते है |
  • बहुत से परिवारों मे पति-पत्नी के बीच वाद-विवाद, छोटी-छोटी लड़ाइयां अक्सर हो जाती हैं। येसब तो आम बात है| लेकिन जब छोटी-छोटी बातें बढ़ जाती हैं तो पूरा घर अशांत हो जाता है। सावन माह में इस बात का विशेष ध्यान रखें कि घर में क्लेश ना हो। जिन घरों में क्लेश होता है | वहां देवी-देवता निवास नहीं करते हैं। सावन माह में शिवजी की कृपा चाहते हैं तो घर में प्रेम बनाए रखें और एक-दूसरे की गलतियों को भूलकर आगे बढ़ें। प्रसन्न मन से पूजा करेंगे तो मनोकामनाएं भी जल्दीपूरी हो जाती है |

Post Author: Ankit Aggarwal