कैसे करें दुर्गा माँ की प्रतिमा का विसर्जन
कैसे करें दुर्गा माँ की प्रतिमा का विसर्जन

दुर्गा विसर्जन 2017 – कैसे करें दुर्गा माँ की प्रतिमा का विसर्जन

नवरात्री के समापन के उपरान्त दशमी तिथि को माँ दुर्गा की प्रतिमा को समुन्द्र,नदी ,गंगा  में या किसी भी सरोवर में विसर्जित किया जाता है| कुछ जगहों में भक्त नवमी तिथि में ही विसर्जन कर देते हैं |वैसे तो दुर्गा विसर्जन 2017में दुर्गा विसर्जन 30 सितंबर को किया जाएगा||

माँ दुर्गा के विसर्जन पूजा की विधि

  • कन्या भोज एवं पूजन के बाद एक पुष्प एवं चावल के कुछ दाने हथेली में लें और संकल्प लें|
  • घट यानि कलश में स्थापित नारियल को प्रसाद स्वरूप अपने आप भी ग्रहण करें और परिजनों को भी दें|
  • घट के पवित्र जल का पूरे घर में छिडकाव करें और फिर सम्पूर्ण परिवार इसे प्रसाद स्वरुप ग्रहण करें|
  • घट में रखें सिक्कों को अपने गुल्लक में रख सकते हैं, बरकत होती है|
  • सुपारी को भी परिवार में प्रसाद रूप में बांटें|
  • माता की चौकी से सिंहासन को पुनः अपने घर के मंदिर में उनके स्थान पर ही रख दें|
  • श्रृंगार सामग्री में से साड़ी और जेवर आदि को घर की महिलाये प्रयोग कर सकती हैं|
  • श्री गणेशजी की प्रतिमा को भी पुनः घर के मंदिर में उनके स्थान पर रख दे|
  • अब चढ़ावे के तौर पर सभी फल, मिष्ठान्न आदि को भी परिवार में बांटें|
  • चौकी और घट के ढक्कन पर रखें चावल एकत्रित कर पक्षियों को डाल दें|
  • माँ दुर्गे की प्रतिमा अथवा तस्वीर एवं कलश में बोयें हुए जौ एवं पूजा सामग्री आदि सभी को प्रणाम करके समुन्द्, नदी या सरोवर में विसर्जित करे |
  • विसर्जन के बाद पश्चात एक नारियल, दक्षिणा और चौकी के कपडें को किसी ब्राह्मण को दान कर दे |

शुभ महूर्त      

  • दशमी तिथि प्रारंभ – रात्रि 23:49 से (29 सितंबर 2017)
  • दशमी तिथि समाप्त – रात्रि 01:28 बजे तक (01 अक्टूबर 2017)
  • दुर्गा विसर्जन तिथि – 30 सितंबर 2017
  • दुर्गा विसर्जन शुभ तिथि – प्रातः 06:17 बजे से 08:38

BOOKBAAK.COM पर पड़ने वाले सभी पाठको को एवं माँ दुर्गा के उपासकों को नवरात्री की हार्दिक शुभकामनाएं| आप सभी का जीवन मंगलमय हो|

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *