POTLI GUJIYA RECIPE

पोटली गुजिया रेसिपी इन हिंदी – POTLI GUJIYA RECIPE IN HINDI

 

POTLI GUJIYA RECIPE

READ IN ENGLISH PLEASE CLICK HERE

Hey guys होली पर रंग खेलने के साथ ही पोटली गुजिया(potli Gujiya) खाने का भी रिवाज है |अगर यह गुजिया नाम और shape में भी आकर्षक हो तो गुजिया और त्यौहार का मजा भी दुगना हो जाता है | तो आज हम पोटली गुजिया(potli Gujiya) बनाएंगे  गुझिया अलग-अगल स्वाद की बनायीं जाती है इसलिए गुजिया के अलग -अलग स्वाद एवं shape को ट्राई करें और बनाना सीखें -चाशनी वाली पोटली गुजिया(potli Gujiya)  । मावा पोटली गुजिया( Mawa potli Gujiya) / सूजी पोटली  गुजिया( Suji potli Gujiya )एक पारम्परिक मिठाई है, जो mostly  किसी त्यौहार (विशेषकर होली) अथवा किसी खास मौके पर बनाई जाती है। कुछ लोग इसे कुसली Kusli के नाम से भी पुकारते हैं। यह बनाने में आसान है औरहम इसे  तैयार होने के बाद बिना फ्रिज में रखे 6-7  दिनों तक एवं फ्रीज़ में रख कर 15-20 दिनों तक उपयोग में लाई जा सकती है। हम इसे पोटली समोसे की तरह पोटली गुजिया भी बना सकते है | यह एक नई तरह की गुजिया होगी जो खाने में बहुत ही स्वदिस्थ होगी | so friends let,s start

आप पोटली  गुजिया(potli Gujiya) माइक्रोवेव में भी बना सकते है 

Prep time: 15 min

Cook time: 5 min

Total time: 20 min

Festival -holi

Meal type- veg

INGREDIENTS FOR potli GUJIYA RECIPE

For making dough:

Flour –  1 कप,
घी_Ghee – 3 बड़े चम्मच,
Oil – तलने के लिए।

  • दूध_Milk – 50 ग्राम,
  • FOR STUFFING:

6 कप मावा
एक चम्मच इलायची पाउडर
एक कप नारियल कद्दूकस किया हुआ
3 बड़े चम्मच किशमिश

5 बड़े चम्मच काजू कटे हुए
4 कप चीनी का बूरा (पिसी हुई चीनी)

METHOD FOR potli GUJIYA RECIPE

RECIPE FOR STUFFING

POTLI GUJIYA RECIPE
POTLI GUJIYA RECIPE

मावा पोटली  गुजिया रेसिपी ( Mawa potli Gujiya Recipe )/ सूजी गुजिया रेसिपी( Suji potli Gujiya Recipe) के लिए सबसे पहले पोटली गुजियों में भरने के लिए भरावन तैयार करते  है।

सबसे  पहले पैन गरम करे  और इसमें मावा डालकर लगातार चलाते हुए हल्का ब्राउन होने तक भून  ले | इस दौरान आंच को  मध्यम रखे | मावा भुन जाने के बाद, इसे प्याले में निकाल लीजिए और ठंडा होने के लिए रख  दीजिए |

इसके बाद, मावा में पिसी हुई चीनी, नारियल, किशमिश और काजू डालकर मिला दीजिए | साथ ही चिरौंजी और इलाइची भी डालकर अच्छेे से मिक्स कर दीजिए | सारी चीजों के मिक्स होने के साथ ही गुजिया में भरने के लिए STUFFING तैयार है.

RECIPE FOR DOUGH:

potali Gujiya Recipe

 

अब हम पोटली  गुजिया बनाने के लिए आटा  गुथने की तैयारी करेंगे है। इसके लिए सबसे पहले घी को पिघला लें। फिर उसे छने हुए मैदा में डाल कर अच्छी तरह से मिला लें। इसके बाद दूध को भी आटे में मिला दें और उसके बाद पर्याप्त मात्रा में पानी डालकर थोड़ा कड़ा आटा गूथ लें (दूध आप चाहे तो ले सकते है )। गुथे हुए आटे को एक बर्तन में रख दें और उसे गीले कपड़े से ढ़क कर आधे घंटे के लिए रख दें।

अब उस आटे के  छोटी -छोटी  रोल बॉल्स बनाये और रोल की सहायता से उसकी छोटी पूरी बनाये|

अब  उसके बीच में पर्याप्त मात्रा में STUFFING रखें और मैदे की लोई को ऊपर की ऊपर की ओर उठाकर उसे फोटो के अनुसार पोटली का शेप दे दें। अब ध्यान से पोटली  गुजिया को  एक प्लेट पर हल्का सा तेल लगाकर उसपे रख दे| अब बचे हुए रोल्स के साथ भी यही प्रक्रिया दोहराये|

RECIPE FOR GUJIYA FRY

POTLI GUJIYA RECIPE

कढ़ाही में पोटली गुजिया तलने के लिए घी डालकर गरम कर लीजिए घी इतना हो की इसमें पोटली गुजिया डूब जाए |

अब गरम घी में एक-एक करके जितनी पोटली गुजिया कढ़ाही में आ जाएं, उतनी पोटली गुजिया डाल दीजिए|

अब पोटली गुजिया को मध्यम और धीमी आंच पर ब्राउन होने तक तल लीजिए | एक ओर तल जाने के बाद, पोटली गुजिया को दूसरी तरफ पलटकर भी तल लीजिए | अच्छे से तली हुई पोटली गुजिया को निकालकर प्लेट में रख लीजिए |

अब हमारी स्वादिष्ट मावा की पोटली गुजिया तैयार हैं| इन्हें आप किसी भी त्यौहार पर या जब भी आपका मन हो, तब बनाइए और गरमागरम पोटली गुजिया खाइए| इन्हें ठंडा होने के बाद एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख लीजिए और 15 दिनों तक चाव से खाते रहिए|यह खाने के साथ-साथ  देखने में भी बहुत ही अछि लगाती है | 

SUGGESTION –

कसार में बेसन, सूजी इत्यादि मावा में भूनकर मिलाकर अलग-अलग स्वाद की गुजिया तैयार कर सकते हैं|

पिसी हुई चीनी की जगह तगार या खांड़ भी ले सकते हैं|

गुजिया फटे ना, इसके लिए 4 बातों का ध्यान रखें. पहला, गुजिया भरते समय सारे किनारों पर हल्का सा पानी लगाकर अच्छे से चिपका दें|दूसरा गुजिया में STUFFING ज्यादा ना भरें. तीसरा, मैदा गूंथते समय मोयन ज्यादा न डालें. इससे गुजिया नरम होकर तलते समय फट जाती है. चौथा, गुजिया को बहुत ही सावधानी से हल्के हाथों सेHANDLE करे क्योकि उंगली लगने से भी गुजिया फट जाती हैं|

guysआप  सभीको गुजिया पसंद आये तो आप अपने अनुभव हमे bookbaak.com पर बताये | और इस रसिपी से जुड़े सवाल भी आप bookbaak.com पर पूछ सकते है | दोस्तों यदि आपको यह रेसिपी पसंद आये तो लिखे और शेयर जरुर करे

 

Post Author: Ankit Aggarwal