HOME REMEDIES FOR COLD AND GOUGH

जुकाम होने पर घरेलु नुस्खे

if you want read in English than click here –

नमस्कार दोस्तों ! आज हम जुकाम के बारे मे बताएँगे जुकाम से कौन परिचित नहीं है? दोस्तों अभी मौसम भी बरसात का चल रहा है ऐसे मे तो जुकाम खासी और बुखार लगा ही रहता है वैसे भी दो-चार महीनों में प्राय: सभी को जुकाम हो ही जाता है | कुछ व्यक्तियों को तो यह और भी जल्दी-जल्दी होता रहता है। लेकिन अधिकतर मामले सर्दी और बरसात के मौसम में होते हैं। यह एक संक्रामक रोग है, जो राइनो वायरस विषाणु से फैलता है।

वैसे तो यह बीमारी 4-5 दिन में ठीक हो जाती है, लेकिन बार बार जुकाम होना और यदि यह बिगड़ जाए, तो ब्रोंकाइटिस, ब्राकोन्यूमोनिया, प्लूरिसी, टी.बी., गठिया का बुखार, बहरापन जैसे रोगों को जन्म दे सकती है। ज्यादातर मामलो में तुलसी, अदरक की चाय जैसे घरेलू इलाज ठीक रहते है। गर्म पानी में विक्स या कपूर डालकर मुँह और नाक द्वारा भाप लेने से भी आराम मिलता है |

जुकाम के लिए घरेलु उपाय    

  • जायफल को पानी में घिसकर शहद के साथ इस पेस्ट को दिन में 2-3 बार सेवन करें।

नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदें किसी साफ कपड़े में लगाकर उसे सूंघने से छींकें आने से जुकाम में बहुत लाभ होता है।

  • एक गिलास पानी में एक चम्मच अजवायन और इस से चार गुना ज्यादा गुड डालकर आंच पर उबाले जब आधे से भी कम पानी बच जाये तब इस काढ़े को छान कर पियें |
  • शहद 20 ग्राम, सेंधा नमक और हल्दी आधा-आधा ग्राम लेकर 80 मिली पानी में डालकर उबालें। हल्का गर्म रहने पर रात्रि को सोते समय इसको पीने से जुकाम ठीक हो जाता है।
  • लौंग के तेल की दो बूंदें २०-३० ग्राम शक्कर में मिलाकर खाएं।
  • चाय में तुलसी के पत्ते उबालकर चाय बनाकर पीने से जुकाम से राहत मिलती हैं |
  • मुलहठी, सौंठ और हींग 1-1 ग्राम लेकर बारीक पीसकर गुड़ या शहद में मिलाकर चने के आकार की गोलियां बना लें। यह 1-1 गोली सुबह-शाम लेनी चाहिए।
  • अदरक 6 ग्राम, 10 तुलसी के पत्ते, 7 कालीमिर्च , 5 लौंग लेकर 1 कप पानी में उबाल लें, फिर इसको छानकर तथा शक्कर मिलाकर पी लें। जुकाम का लाभकर प्रयोग है। यह बहुत ही जल्दी आराम देता है
  • केवल दूध पीने से जुकाम और ज्यादा बढ़ जाता है, इसलिए दूध में दालचीनी, छोटी इलायची, काली मिर्च या पिप्पली का पाउडर 1 ग्राम मात्रा में डालकर पीना चाहिए ।
  • अदरक का रस 5 ग्राम, शहद 5 ग्राम मिलाकर चाटने से जुकाम में बहुत लाभ होता है। इसे दिन में तीन-चार बार सेवन कर सकते हैं।
  • पिसी हुई हल्दी हल्के गर्म पानी के साथ लेने से जुकाम में बहुत लाभ होता है।
  • सरसों के तेल की एक-एक बूंद नाक के नथुनों में डालकर सोने से बंद नाक खुल जाती है। हर रोज ऐसा करने से जुकाम नहीं होता है।
  • जुकाम के साथ साथ अगर बुखार भी हो तो शहद और अदरक के रस में एक चुटकी मीठा सोडा डालकर इसका सेवन करें |
  • कलौंजी का बारीक चूर्ण जैतून के तेल में मिलाकर किसी कपड़े से छानकर बूंद-बूंद नाक में टपकाने से जुकाम से होने वाली छींकों से छुटकारा मिलता है तथा जुकाम में भी बहुत लाभ होता है।
  • बड़ी हरड के छिलकों का पावडर और शहद आधी आधी चम्मच मिलाकर चाटने से जुकाम ठीक हो जाता हैं |
  • रात को सोने से पहले वनफसा 5 ग्राम और काली मिर्च के पांच दाने पीसकर गर्म दूध में मिलाकर पीने से जुकाम तेजी से नष्ट होता है।
  • नींबू को गर्म राख में 30 मिनट दबाकर रखें, फिर इस नींबू को काटकर उसका रस पियें |

सावधानिया

  • यदि जुकाम बार-बार होता है और उस पर ध्यान नहीं दिया जाए, तो संक्रमण नाक के चारों ओर अंदर स्थित साइनस तक पहुँच जाता है, जो नजले या साइनोसाइटिस का रूप ले लेता है।
  • बच्चों और बूढ़ों में जुकाम से न्यूमोनिया भी हो जाता है, जो एक खतरनाक बीमारी है। दमा, हृदय रोग और फेफड़ों के रोगियों के लिए भी जुकाम की बीमारी खतरनाक साबित हो सकती है।
  • पीड़ित व्यक्ति को एक अलग स्वच्छ हवादार कमरे में आराम करना चाहिए। रोगी को छींकते, खाँसते और बोलते समय मुँह और नाक को रूमाल से ढकना चाहिए।
  • रोगी दर्द के लिए एस्प्रिन या पेरासीटामाल की गोलियाँ ले सकता है। उसे साथ ही गरम पेय पदार्थ लेने चाहिए।
  • गरम पानी के गरारे भी मरीज को आराम देते हैं। यदि बुखार नहीं है तो एंटिबायोटिक दवाइयों का उपयोग नहीं करना चाहिए ।
  • अधिक सदीं और अत्यधिक थकानवाले श्रम से बचें।
  • भीड़ भरे या गंदे स्थानों से भी बचें।
  • ठंडी और अधिक नमी वाली जगहों एवं बारिश में भीगने से बचें।
  • जिन मरीजों को जुकाम हो, उनसे दूर रहे |

Post Author: Seema Gupta