images

एसिडिटी होने के प्रमुख कारण और उपाय

दोस्तों ! जब हम ज्यादा मसालेदार भोजन खाते है तब पेट मै ज्यादा एसिड का स्राव होने लगती है जिसके कारन पेट में दर्द और जलन होने लगती है | और पाचन क्रिया भी ठीक नहीं रहती है | आजकल लोग फ़ास्ट फ़ूड खाना बहुत पसंद करते है | जिसके कारन ज्यादातर लोग एसिडिटी के कारन परेशान रहते है | दोस्तों अगर आप भी एसिडिटी से परेसान है तो आज हम आपको एसिडिटी होने के कुछ कारन और  जरुरी उपाय बताने जा रहे है | आओ जाने –

एसिडिटी होने के प्रमुख कारन –

  • मसालेदार भोजन चटनी , इमली , चाट , लाल मिर्च , गरम मसाले , लहसुन , मुली , प्याज आदि खाने से एसिडिटी की प्रॉब्लम होती है |
  • चाट , टिक्की , गोलगप्पे , चौमिन , मैक्रोनी आदि खाने से भी एसिडिटी की परेशानी होती है |
  • रात को भारी खाना जेसे – राजमा , चने आदि ऐसी दाले न खाए इससे भी एसिडिटी होती है क्यूंकि रात को जल्दी भोजन पचता नही है | इसलिए रात में हल्का भोजन ही खाए |
  • पेट से जुडी कुछ बीमारियों की वजह से भी अम्लीयता हो सकती है |
  • खाना खाने के तुरंत बाद सो जाने से भी एसिडिटी हो सकती है | खाना खाने के बाद थोडा टहलना चाहिए |
  • चाय , कॉफ़ी , धुम्रपान , सिगरेट, तम्बाकू , आदि पदार्थो का जयादा इस्तेमाल करने से भी एसिडिटी होती है |
  • व्यायाम का आभाव और अधिक प्रदुषण के कारन भी एसिडिटी होती है |
  • खाली पेट चाय या कॉफ़ी  पीने से भी एसिडिटी होती है |
  • तनाव , ज्यादा दवाई खाने से और ज्यादा लेटने या बैठने से भी एसिडिटी होती है |
  • रात का बचा खाना खाने से भी एसिडिटी और पेट में जलन , भारीपन होता है |

एसिडिटी की प्रॉब्लम से बचने के उपाय –

  • तीखा , तला हुआ , मसालेदार , बासी और बहार के खाने से बचे |
  • घर का खाना ही खाए |
  • ज्यादा देर तक खाली पेट न रहे | थोड़ी – थोडी देर मै कुछ न कुछ खाते रहे | क्यूंकि खाली पेट रहने से भी एसिडिटी होती है |
  • रात में हल्का भोजन ही खाए | जल्दी पच जायेगा |
  • खाना खाने के तुरंत बाद लेटे नहीं थोडा टहलना चाहिए |
  • 1 ग्लास मठ्ठा में हरे धनिये का रस मिलाकर पिने से बदहजमी दूर हो जाती है |
  • पपीता में सेंधा नमक मिलाकर खाली पेट खाने से भी एसिडिटी की प्रॉब्लम ठीक हो जाती है |
  • एसिडिटी होने पर हल्का भोजन जेसे – दलीया , खिचड़ी , मूंगदाल , पेठा , चावल आदि खाए |
  • समय पर सोये और पुरे 8 घंटे की नींद ले |
  • तुलसी के पत्तो का अर्क का सेवन करने से पेट के पाचक रसो को संतुलित कर पेट की अनेक परेशानिया दूर हो जाती है | इसके लिए खाली पेट सुबह – सुबह तुलसी की चार पत्तियां चबाने से भी एसिडिटी कण्ट्रोल रहती है |

दोस्तों !   ये एसिडिटी होने के कुछ प्रमुख कारण और उपाय है | जिसको आप जरुर अजमाकर देखे , जरुर फायदा होगा | आपको हमारी ये पोस्ट केसी लगी है | अगर पोस्ट पसंद आई है तो आप ऐसी ही पोस्ट पढने के लिए WWW.BOOKBAAK.COM पर क्लिक करे |

Post Author: Pooja Aggarwal